LoC पर PAK आतंकियों के हमले में 3 शहीद: एक जवान के शव के साथ बर्बरता, एक महीने में दूसरी बार ऐसी हरकत

7486

सोशल मीडिया: शहीद के शव के साथ बर्बरता के बाद लोगों ने की मांग, PAK सैनिकों के साथ भी अब यही सलूक किया जाए

नई दिल्ली. जम्मू कश्मीर के माछिल सेक्टर में मंगलवार को हमारे तीन जवान शहीद हो गए। एक शहीद के शव के साथ बर्बरता की गई। इसके बाद देश में पाकिस्तान के खिलाफ फिर गुस्सा देखा जा रहा है। सोशल मीडिया पर एक शख्स ने कहा- अब बहुत हो गया। जो पाकिस्तान ने किया, उसके साथ भी वही किया जाए। जम्मू-कश्मीर के डिप्टी सीएम निर्मल सिंह ने कहा- पाकिस्तान इंसानियत भूल चुका है। वो आज भी उस दौर में जी रहा है जब सिविलाइज्ड सोसायटी नहीं थी।सोशल मीडिया पर लोगों ने की बदले की मांग….
– ‏@joycraphaelअकांउट से किए गए ट्वीट में कहा गया- शांति चाहने वालों, एक और शहीद के शव के साथ बर्बरता की गई है। अब क्या करे भारत? फिर से पाकिस्तान से प्यार।
– @ieMilindने लिखा- सिमी के मारे गए आतंकियों पर आंसू बहाने वालों ने कभी शहीद जवान के साथ हुई बर्बरता के जख्म भी गिने हैं क्या?
– @SmithaDuttने लिखा – बर्बरता के पीछे जैश-ए-मोहम्मद का हाथ है। (पाकिस्तान ने एक महीने में दूसरी बार की ये हरकत..पूरी खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें.. )
घटना बताती है कि पाकिस्तान कितना बौखलाया हुआ है
– डिफेंस एक्सपर्ट पीके सहगल ने कहा- इस घटना से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि सर्जिकल स्ट्राइक में पाकिस्तान को कितना नुकसान हुआ होगा। वो हमारे जवानों के शवों के साथ बर्बरता कर जिनेवा कन्वेंशन को तोड़ रहा है। भारी हथियारों का इस्तेमाल कर रहा है।
– एक और डिफेंस एक्सपर्ट अनिल गौड़ ने कहा- कारगिल युद्ध के दौरान हमारी सेना ने पाकिस्तान के कई सैनिक मार गिराए थे। लेकिन बाद में सभी को सम्मान के साथ दफनाया गया था।
– जम्मू कश्मीर के डिप्टी सीएम निर्मल सिंह ने कहा- पाकिस्तान में इंसानियत खत्म हो गई है। वो इस तरह की हरकतें करके साफ कर देता है कि वहां की सोसायटी सिविलाइज्ड नहीं हैं। भारत भी जवाब देगा। ये भी हकीकत है कि वो दुनिया में अलग-थलग पड़ गया है।
कैसे हुआ हमला?
– आर्मी ने कहा, ”एलओसी पर तीन जवान शहीद हुए हैं। एक के शव के साथ बर्बरता हुई। इस कायराना हरकत का करारा जवाब देने को कहा गया है।”
– एक आर्मी ऑफिसर ने न्यूज एजेंसी को बताया कि कुपवाड़ा जिले के माछिल सेक्टर में LoC की फेंसिंग के पास जंगल के इलाके में यह हमला हुआ। वहां घुसपैठ नाकाम करने के लिए आर्मी की पेट्रोल पार्टी गश्त दे रही थी। हमले में तीन जवान शहीद हो गए।
पहले भी हुई हैं ऐसी घटनाएं
– इसी साल 28 अक्टूबर में एक जवान मनदीप सिंह के शव का भी पाकिस्तान की सेना ने अपमान किया था। पाकिस्तानी आर्मी के कवर फायर का फायदा उठाते हुए आतंकी LoC के रास्ते घुसे और एक जवान की जान ले ली। उसके बाद जवान के शव को क्षत-विक्षत कर दिया। ये घटना भी माछिल सेक्टर में ही हुई थी।
– जून 2008 में गोरखा राइफल्स के एक जवान को पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम ने केल सेक्टर में पकड़ लिया था। कुछ दिन बाद उसका सिर कलम कर लाश फेंक दी थी।
– 2013 में दो जवान लांसनायक हेमराज और सुधाकर सिंह के शवों को भी पाक सैनिकों ने क्षत-विक्षत कर दिया था।
– 1999 की कारगिल जंग के दौरान कैप्टन सौरभ कालिया को पाकिस्तान की सेना ने प्रताड़ित किया था और बाद में उनके शव के साथ भी बर्बरता की गई।

1 of 5
Click on Next Button For Next Slide

SOURCEdainik bhaskar
SHARE
ज़िंदगी का हिस्सा है लिखना, पुरसुकून करता है. कभी पन्नों पर कभी चेहरों पर, जो पढ़ती हूं लिख देती हूं.